प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश भर की आंगनवाड़ी वर्करों आशा वर्करों और एएनएम को किया संबोधित |

देश पानीपत म्हारा हरियाणा विशेष स्टोरी सामाजिक

पानीपत 11 सितम्बर।

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को पोषण माह कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित देश के सभी राज्यों की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं,आशा वर्करों और एएनएम को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सीधा संवाद करते हुए उनका आह्वान किया कि आप सभी राष्ट्र निर्माण के अग्रणी सिपाही हैं,देश की माताओं और शिशुओं की देखभाल की जिम्मेदारी आप सभी पर है। हम सबको मिलकर कुपोषण के खिलाफ आवाज उठानी है और इसको दूर करना है। स्वच्छता और स्वास्थ्य का सीधा सम्बंध पोषण से है।

स्थानीय लघु सचिवालय में इस वीडियो कांफ्रेंस के लिए एनआईसी की ओर से व्यवस्था की गई थी। इस वीडियो कांफ्रेंस में सीएमओ डॉ नवीन सुनेजा,महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी सरला यादव,सभी सीडीपीओ और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के साथ साथ आशा कार्यकर्ता व इस अभियान के जिला समन्वयक रितेश कोल भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में सभी को सादर नमन करते हुए उनके कार्य मे आने वाली चुनोतियों,अनुभवों को भावुकता के साथ सुना और उनका हौंसला भी बढ़ाया। उन्होंने कहा कि अनीमिया रोग पर विजय प्राप्त करना हमारे लिए चुनोती हैलेकिन इस चुनोती से आप सभी के सहयोग से पर पाया जा सकता है। आप सबको आयोडीन और आयरन युक्त नमक खाने के लिए प्रेरित करना होगा। आज के समय मे महिलाओं में अनीमिया 1 प्रतिशत मात्रा में कम हो रहा है लेकिन हमें इसको 3 प्रतिशत पर लाना होगा। इस अभियान के जिला समन्वयक रितेश कोल ने बताया कि यह अभियान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर इस विशेष अभियान की शुरुआत की गई है। जिला में इसको सफल बनाने के लिए खण्ड स्तर से लेकर जिला स्तर के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इस अभियान का लक्ष्य महिला और बच्चे रहेंगे। खासकर खानपान को लेकर इनको जागरूक किया जा रहा है।

वीडियो कांफ्रेंस में उपस्थित सिम्बलगढ़ में कार्यरत आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सुदेश ने बताया की विभाग की ओर से उन्हें विशेष तौर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन को सुनने और लोगों में इस अभियान का प्रचार-प्रसार करने के लिए आमंत्रित किया गया था। उनको प्रोत्साहन मिला है और हौसला बढ़ा है। उन्होंने अपने गांव को अनीमिया मुक्त करने के अनुभव भी सांझा किया और कहा कि उन्होंने सकारात्मकता के साथ इस अभियान को आगे बढाया व लड़कियों और महिलाओं को जागरूक किया। वे अब तक हजारों महिलाओं को जागरूक कर उन्हें अनीमिया से छुटकारा दिलवा चुकी हैं।


by

सिटी तहलका डेस्क 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *