खाली करनी होगा राहुल को नेशनल हैराल्ड का भवन जानिए कैसे

देश

खाली करनी होगा राहुल को नेशनल हैराल्ड का भवन

दिल्ली स्थित नेशनल हैराल्ड का भवन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व सोनिया गान्धी को खाली करना ही पडेगा । इस आशय का एक आदेश दिल्ली हाईकोर्ट ने वीरवार को सुनाते हुए एक याचिका का निस्तारण कर दिया है।याद रहे कि नेशनल हैराल्ड कभी कांग्रेस पार्टी का मुखपत्र माना जाता था जो बाद मे बंद हो गया था। लेकिन अखबार मे काम करने वाले स्टाफ के वेतन के झगडे बने रहे। वेतन के अलावा अन्य देनदारियों के चलते नेशनल हैराल्ड को चलाने वाले ए जे एल की तरफ करीब 90 करोड की देनदारिया बढती चली गई। बाद मे तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ए जे एल को 90 करोड का कर्ज दे दिया। ओर बाद में यह कर्ज माफ भी कर दिया। इस बाजीगरी के चलते कांग्रेस पार्टी की इस सम्पत्ति का मालिकाना हक सोनिया व राहुल गांधी के नाम आ गया। याद रहे कि इसी ए जे एल को हरियाणा के पुर्व सी एम भूपेन्द्र हुड्डा ने भी अपने राज मे एक बेशकीमति प्लाट से कृतज्ञ किया था जिसकी CBI मे जांच जारी है।

बहरहाल 2014 मे मोदी की सरकार आने के बाद जांच मे पाया गया कि 10 साल से नेशनल हेराल्ड भवन मे प्रकाशन से सम्बन्धित कोई काम नही हुआ। जिसे लीज कानून का उलंघन मानते हुए केन्द्र सरकार ने इस लीज को खत्म कर दिया था। जिसके विरोध मे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक याचिका दिल्ली हाई कोर्ट मे दाखिल की थी। जिस पर 21 दिसम्बर को दिल्ली हाईकोर्ट की सिंगल बैन्च ने फैसला देते हुए राहुल गांधी को कोई भी राहत देने से मना कर दिया था। अब डबल बैन्च ने भी पुर्व के फैसले को यथावत रखते हुए आदेश दिया कि कांग्रेस नेता तुरन्त इस भवन को खाली करे। जाहिर है लोकसभा चुनाव के दिनो मे यह फैसला आने से भाजपा को कांग्रेस पार्टी के खिलाफ एक हथियार मिल गया है। हालांकि अभी सुप्रीम कोर्ट मे अपील की गुंजाईश है लेकिन फिलवक्त कांग्रेस के 90 करोड भी गए ओर मालिकाना हक भी गया। बल्कि बैठे बिठाए भाजपा को भी कांग्रेस को टारगेट करने का प्रयाप्त मसाला भी मिल गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *