नए चेहरों पर दांव लगाने को मौजूदा सांसदों के टिकट पर चल सकती है कैंची।। भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए बनाई रणनीति, शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा ने की पुष्टि

Ram Bilas Sharma
म्हारा हरियाणा विशेष स्टोरी

हरियाणा से कई लोकसभा सांसदों के टिकट पर कैंची चलना इस बार तय माना जा रहा है। इस पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ बैठक में मंथन हो चुका है। प्रदेश के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने इसकी पुष्टि करते हुए इस बात से भी इंकार नहीं किया कि लोकसभा चुनाव में इस बार कुछ सीटों पर नए चेहरे नजर आएंगे। उन्होंने कहा है कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने रणनीति तैयार करना आरंभ भी कर दिया है।रणनीति के तहत लोकसभा के वर्तमान चेहरों में कई सांसदों तक का इस बार टिकट कटना तय माना जा रहा है, क्योंकि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई कोर ग्रुप की बैठक में इस पर विस्तार से मंथन भी किया चुका है।

ज्ञात रहे कि इस समय प्रदेश में भाजपा के 7 सांसद हैं। इनमें 2 तो केंद्रीय मंत्री बना दिए गए थे। शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा ने साफ कर दिया है कि इस बार इन 7 सांसदों में से कुछ को पार्टी टिकट न देने के मूड में तो है ही साथ ही उनके स्थान पर नए चेहरों को मैदान में उतारने की तैयारी में है। इन नए चेहरों पर ही इस बार पार्टी दांव खेलने की तैयारी कर रही है।

  • Amit-shah
    राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई कोर ग्रुप की बैठक में इस पर विस्तार से मंथन भी किया चुका है।
शिक्षा विभाग ने शिक्षकों से मांगा है उनकी संपत्ति का ब्यौरा 

बता दें कि जिस प्रोफार्मा में शिक्षकों से बे-सिरपैर की बातें पूछी गई हैं, इसके बाद प्रदेश के शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षकों से उनकी संपत्ति का ब्यौरा मांगा गया है, जिस पर अफरा-तफरी मची हुई है। ज्ञात रहे कि इस में प्रोफॉर्मा हरियाणा के गठन के बाद कोई तब्दीली नहीं की गई है। जिसमें कई सवाल अंकित हैं जो किसी भी स्तर से उचित नहीं हैं। जैसे इस प्रोफार्मा में शिक्षकों से यह तक सवाल किया गया है कि शिक्षकों के कितने घोड़े हैं। इसी तरह वर्षों चलन से बाहर हो चुके रेडियो ग्राम सहित कई अन्य चीजों की जानकारियां भी इस प्रोफार्मा में मांगी गई हैं। इस बारे में शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा का कहना है कि सरकारी अधिकारियों के बारे में जानकारी लेना कोई बड़ी बात नहीं, लेकिन हाईटेक होते हर सिस्टम के मद्देनजर अब लगभग हर चीज का डिजिटलाइजेश किया जाना बेहद जरूरी है। अगर शिक्षकों और अधिकारियों से कोई बेहूदा सवाल पूछा गया है तो इस पत्र का अध्ययन करने के बाद उसे निरस्त कर दिया जाएगा।


by
सिटी तहलका, डेस्क 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *