फिर से हुई दोस्ती शर्मशार || मामूली कहासुनी के बाद नाबालिग दोस्तों ने अपने ही दोस्त को उतारा मौत के घाट

विशेष स्टोरी सोनीपत
29  अगस्त ,सोनीपत।

सोनीपत में एक बार फिर दोस्ती शर्मसार हुई है जहां पर खेलने के दौरान नाबालिक दोस्तों में कहासुनी हुई और कहासुनी के बाद नाबालिगों ने अपने ही नाबालिक दोस्त की हत्या कर दी इतना ही नहीं दोनों ने मिलकर शव को दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके के पास गुजर रही नहर में ठिकाने लगा दिया। मृतक युवक 11 दिन से लापता था जिसका शव मंगलवार को पुलिस ने दिल्ली के पास से पश्चिमी यमुना लिंक नहर से बरामद किया है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए मृतक के दो नाबालिग दोस्तों को भी गिरफ्तार किया ।है गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने पुलिस के सामने खुलासा किया कि उन्होंने ही अपने दोस्त की हत्या कर शव को दिल्ली में फेंका था। बहरहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सदर थाना प्रभारी रमेश ने बताया कि….

सोनीपत में खेल-खेल में हुई कहासुनी में एक नाबालिग की जान गई। मामला सोनीपत के बड़वासनी गांव का रहने वाला था।और उसकी  उम्र 17  साल थी | जहां पर उसी के दोस्तों ने मिलकर हत्या कर दी हत्या की वजह खेल के दौरान आरोपियों से हरदीप की कहासुनी बताई गई है। सदर थाना प्रभारी रमेश ने बताया कि बडवासनी गाव से 18 अगसत से हरदीप लापता था। पिता बलराज ने हरदीप के अपहरण की शिकायत सदर थाना पुलिस को दी थी। पुलिस को मंगलवार को सूचना मिली थी। कि एक युवक का शव दिल्ली पश्चिमी यमुना लिंक नहर में पड़ा है। सूचना पर पुलिस ने तुरंत दिल्ली पहुंच कर शव को बाहर निकाला और जांच में जुट गयी।

मृतक के पिता बलराज ने आरोप लगाया कि…

पुष्टि के बाद शव हरदीप का ही मिला मामले में हरदीप के परिजनों से बात की गई।मृतक के पिता बलराज ने आरोप लगाया कि बेटे की हत्या कर शव नहर में डाला गया है।हत्या गांव के ही दो नाबालिग युवकों ने की है पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए शक के आधार पर हरदीप के दो दोस्तों को राउंडअप किया और पूछताछ की पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस के आगे खुलासा किया कि उन्होंने ही कहासुनी होने के बाद हरदीप की हत्या कर शव को दिल्ली पश्चिमी नहर में ठिकाने लगा दिया। बहराल पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है


by
 सिटी तहलका  डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *