छुट्टियों के तत्काल बाद शुरू होगी स्कूल वाहनों की चैकिंग।। डीजीपी बीएस संधू ने पानीपत में सड़क सुरक्षा को लेकर की बैठक 

dig b.s sindhu panipat
पानीपत विशेष स्टोरी

स्कूलों के ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद विशेष अभियान चला कर सभी स्कूल वाहनों की चैकिंग की जाएगी। जिसमें उसके कागजात से लेकर उसमें दी जाने वाली सुविधाओं की भी पूरी परख की जाएगी ताकि बच्चों की सुरक्षा को पुख्ता किया जा सके। इसमें किसी भी स्तर पर कोई भी कोताही नहीं होगी। यह बात पुलिस महानिदेशक बी.एस संधु ने स्थानीय लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह में सड़क सुरक्षा को लेकर ली गई बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियों को कही।

पुलिस महानिदेशक बी.एस संधु ने कहा कि स्कुल वाहनों की दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए यह अभियान चलाया जाएगा। बसों के अन्दर सीसीटीवी कैमरा, प्रथम चिकित्सा बॉक्स व अन्य उपकरणों की उपलब्धता को सुनिश्चित किया जाए। वाहन चालकों के ड्राईविंग लाईसेंस और गाड़ी के अन्य दस्तावेज भी चैक किए जांए। उन्होंने कहा कि यह अभियान सुबह स्कूल समय के बाद चलाया जाएगा और एक-एक स्कूल को कवर किया जाएगा। एक दिन में एक स्कूल कवर होगा। स्कूल की छुट्टी होने तक सभी वाहनों की चैकिंग की जाएगी। स्कूल के समय से पहले और बाद मेें चैकिंग नहीं होगी। जिससे बच्चों व अभिभावकों को परेशानी हो।

पुलिस अधीक्षक संगीता कालिया ने बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग पर जगह-जगह टूटी हुई ग्रील से जुड़ी समस्या से भी पुलिस महानिदेशक को अवगत कराया और कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर इनके कारण दुर्घटनाएं होती है। लोग इन ग्रील को या तो कूद कर पार करते है या ज्यादा टूटी हुई है तो उसके बीच में से निकल जाते हैं। डीजीपी बी.एस संधु ने बैठक में उपस्थित भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों से इस समस्या से निजात दिलाने के लिए कहा कि आम जन की सुरक्षा के लिए यह गम्भीर मामला है और इसे ठीक किया जाए। एसपी संगीता कालिया ने एनएचएआई के अधिकारियों से स्थानीय लोगों को टोल में छूट देने का मामला उठाया तो एनएचएआई अम्बाला के परियोजना अधिकारी ने बताया कि स्थानीय लोगों को 75 प्रतिशत छूट के साथ पास सुविधा दी जाती है। पानीपत में एलएनटी टोल पर 50 हजार लोग पास का उपयोग कर रहे हैं।

  • dig b.s sindhu panipat
    बी.एस संधु ने कहा कि स्कुल वाहनों की दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए यह अभियान चलाया जाएगा।

एडीसी व सचिव आरटीए सुजान सिंह यादव ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर गांजबड़ में हाई मास्क लाइट का मामला डीजीपी के समक्ष रखा जिस पर एनएचएआई के अधिकारियों ने कहा कि यह मामला उच्च स्तर पर विचाराधीन है। एडीसी ने कहा कि उपायुक्त सुमेधा कटारिया की ओर से इस मामले में अर्ध सरकारी पत्र लिख पत्र व्यवहार किया जाएगा। लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता प्रदीप अत्री ने भी सिवाह और शिमला मौलाना गांव में अन्डर पास और ग्रील के प्रावधान के बारे में डीजीपी को जानकारी दी कि सरकार व्यक्तिगत रूची लेकर अन्डर पास बनवा रही है। इस बारे सरकारी स्तर पर एनएचएआई से बात की जाए। समालखा में भी अन्डर पास बनवाने को लेकर एनएचएआई के अधिकारी दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं।

डीजीपी ने कहा कि वे इस बारे में उच्च स्तरीय बात करेंगे। इस बैठक के बाद उन्होंने मतलौड़ा ब्लॉक से जुड़े विकास कार्यो को लेकर भी बैठक की। उन्होंने कहा कि आईटीआई और इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में शीघ्र ही जागरूकता कैम्प लगाकर शिक्षा ऋण से सम्बन्धित पूरा विवरण विद्यार्थियों को दिया जाए ताकि वे इनका फायदा उठा सके। उन्होंने मतलौड़ा ब्लॉक में बनने वाली 9 व्यायाम शालाओं में भालसी गांव में बने व्यायाम शाला की तर्ज पर ओपन जिम भी बनवाने के निर्देश दिए। इस मौके पर सीटीएम संजय कुमार, डीडीपीओ रूपेंद्र मलिक भी उपस्थित थे।


by
सिटी तहलका डेस्क 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *