फिर लड़ूंगा करनाल से लोकसभा का चुनाव, पार्टी चुनेंगे कार्यकर्ता ।। पानीपत में पूर्व सांसद अरविंद शर्मा का शंखनाद 

arvind sharma panipat today
करनाल पानीपत विशेष स्टोरी

करनाल लोकसभा क्षेत्र के पूर्व सांसद डाॅ. अरविंद शर्मा ने पानीपत में एक बार फिर करनाल लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का शंखनाद कर दिया है। लेकिन किस पार्टी से लड़ेंगे फिलहाल इस बात को गर्भ में रखा है। यह ऐलान उन्होंने रविवार को यहां जीटी रोड स्थित रोड धर्मशाला में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में करीब 1 हजार कार्यकताओं के बीच किया। ऐलान के बाद कार्यकर्ताओं ने उनका फूलमालाएं डालकर भव्य स्वागत किया। कार्यकर्ताओं की भीड़ देख आखिरकार उन्हें धर्मशाला से बाहर गैलरी में खडे़ होकर खुले मंच से कार्यकर्ताओं को संबोधित करना पड़ा। उन्होंने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि कार्यकर्ता ही उनकी पार्टी हैं, उनका निर्णय ही उनके लिए सर्वमान्य होगा। जैसा वे कहेंगे वैसा ही वे करेंगे। उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि चुनाव तो वे करनाल लोकसभा क्षेत्र से ही लड़ेंगे ।

अगर फिर सांसद बना तो बस्ताड़ा और पानीपत टोल प्लाजा को करवा दूंगा सीमा से बहार

पूर्व सांसद डाॅ. अरविंद शर्मा ने कहा कि कई महीने से बस्ताड़ा टोल प्लाजा पर हर रोज झगड़ा हो रहा है। यह टोल 2011 सूमो कंपनी ने सरकार से उनके कार्यकाल में मंजूर कराया था, लेकिन उन्होंने इसका पूरी तरह विरोध करते हुए उस समय इसे लगने नहीं दिया था। जबकि इस कंपनी के उस समय 4 मंत्री डायरेक्टर थे। इसके लिए वे तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिले थे और उनसे इस टोल को यहां स्थापित करने के लिए साफ मना कर दिया था। उन्होंने कहा था कि वे जनता से विश्वासघात नहीं कर सकते। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि अगर जनता ने उन्हें फिर अपना सांसद चुना तो इस बार उनका लक्ष्य पानीपत और बस्ताड़ा टोल प्लाजा को अपने लोकसभा क्षेत्र की सीमा से बाहर भेजने का होगा।

कल्पना चावला मेडिकल कालेज में एम्स की तरह सुविधाएं दिलावकर लेंगे दम

डाॅ. अरविंद शर्मा ने सार्वजनिक रूप से दावा करते हुए कहा कि जब वे क्षेत्र के सांसद थे, उस समय यहां तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आए थे। उन्होंने मांग रखी थी कि उनके लोकसभा क्षेत्र में दिल्ली के आॅल इंडिया मेडिकल इंस्टीट्यूट की तरह सर्वसुविधाओं से संपन्न मेडिकल कालेज होना चाहिए। जिससे कम से कम प्रदेश खासकर जीटी रोड बेल्ट के मरीजों को अपना इलाज कराने के लिए दिल्ली तक न जाना पड़े। इसके बाद करनाल में कल्पना चावला मेडिकल कालेज को मंजूरी तो 2006 में मिल गई, लेकिन उस पर काम शुरू हो पाया करीब 6 साल बाद यानि 2012 में। आप जान सकते हैं कि इन 6 सालों में इसके लिए कितनी रूकावटें आई होंगी। लेकिन उन्होंने सभी रूकावटें साफ कराकर इस हास्पिटल के यहां निर्माण की मंजूरी आखिर ले ही ली। लेकिन एम्स जैसी सुविधाओं से आज भी अस्पताल और मरीज महरूम हैं। अगर जनता ने साथ दिया तो इस अस्पताल में वे एम्स जैसी हर सुविधा दिलाकर ही दम लेंगे। उन्होंने कहा कि करनाल में एयरपोर्ट की मांग भी उन्होंने उठाई थी। मंजूर भी हो गया था, लेकिन बाद में क्या हुआ ये गर्भ में हैं। अब भाजपा सरकार थोड़ी-बहुत इसके लिए जागी है, हो सकता कुछ बात बने।

कोई ऐसा कमा बताएं जो उन्होंने जनता के लिए न किया हो 

उन्होंने खुले मंच से यह भी कहा कि हांलाकि उन्होंने अपने कार्यकाल में 36 बिरादरी को साथ लेकर हर तबके के कार्यों को प्रथमिकता के साथ करवाया था। अगर फिर भी जनता की निगाहों में कोई ऐसा काम है, जिसमें पीछे रहे हों तो वह भी जनता उन्हें बता सकती है। वे कोई भी काम जातपात और भेदभाव से उपर उठकर कराते हैं। जनता का साथ मिला तो आगे भी ऐसा ही होगा। उनकी हमेशा यही कोशिश रही कि हर क्षेत्र में बेहतर काम हों। वे 10 साल तक इस लोकसभा क्षेत्र के सासंद रहे, लेकिन उन्होंने कभी पिछले सांसद के कार्यों पर उंगली नहीं उठाई। बुराई करना उनका काम नहीं है, बल्कि क्षेत्र का विकास उनके लिए सर्वोपरि रहा है और आगे भी रहेगा। उन्होंने कहा कि 5 साल तो पार्लियामेंट के रास्ते तय करने में लग जाते हैं। वे तो इन रास्तों को भंलीभांति तय कर चुके हैं। अब तो जनता के हिसाब से रास्ते तय करेंगे।

  • arvind sharma panipat rod dharmsala
    रोड धर्मशाला में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में करीब 1 हजार कार्यकताओं के बीच किया।
लगाव दिल से हो तो भगवान का सानिध्य भी दूर नहीं 

पूर्व सांसद ने कार्यकर्ता को एक घुट्टी पिताते हुए कहा कि जिस चीज की जितनी चर्चा होगी काम उतना ही बढ़ता जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि आप अपने भगवान का ध्यान भी दिल लगाकर करते हैं तो आपको उनका सानिध्य भी प्राप्त हो जाता है। इसलिए सभी कार्यकर्ता दिल लगाकर जनता से चर्चा करें कि उन्होंने अपने कार्यकाल में क्या किया है। इसके बाद जो जनता का फैसला होगा उन्हें मान्य होगा। उन्होंने कहा कि चर्चा दिल लगाकर की जाए तो कोई भी कार्य आसान बन जाता है।

हमने कभी जनता को लूटने का काम नहीं किया, ना ही किसी का सिर नीचे होने दिया

पूर्व सासंद शर्मा ने यह भी दावा किया कि उन्होंने जनता को लूटने की बजाय अपने कार्यकाल में हमेशा विकास कार्यों को ही तरजीह दी है। उन्होंने कभी किसी का सिर नीचे नहीं होने दिया। अगर कहीं विकास कार्य अटके भी थे तो उसका मुख्य कारण ग्रांट मिलने में पीछे रह जाना था। उन्होंने कहा कि ग्रांट मिलने में हमें पीछे क्यों किया गया यह लंबी कहानी है कभी फुर्सत से चर्चा करेंगे।


by
अजय राजपूत
सिटी तहलका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *