निगम का सुपरवाइजर 7 साल के बेटे के साथ कूदा नहर में!।। पत्नी के प्रेम संबधों से था परेशान 

अन्य पानीपत
पानीपत, 4 अगस्त। 
 

 

पानीपत नगर निगम में एक सुपरवाइजर द्वारा शुक्रवार को अपने 7 साल के इकलौते मासूम बेटे के संग नहर में कूदकर आत्महत्या किए जाने  का सनसनीखेज मामला सामने आया है। नहर में कूदने से पहले सुपरवाइजर द्वारा एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें वह एक व्यक्ति के साथ अपनी पत्नी के प्रेम संबंधों से आहत होकर अपने बेटे के साथ यह कदम उठा रहा है। यह सुासइड नोट बिंझौल नहर के किनारे खड़ी मिली उसकी स्कूटी में रखा मिला। फिलहाल पुलिस ने बाप-बेटे की नहर में तलाश कराई, लेकिन उनका कोई अता-पता नहीं चला। इससे पुलिस दोनों का नहर में कूदना संदिग्ध मान रही है। पुलिस के अनुसार पत्नी से नहर में कूदने की बात करने और नहर किनारे मिली स्कूटी मिलने से पुलिस दोनों की मौत नहर में छलांग लगाने की आशंका भी मान रही है। पुलिस इसकी पूरी जांच कर रही है। फिलहाल स्पष्ट नहीं हो पाया है कि दोनों नहर में कूदे हैं या कहीं और चले गए हैं।

 

 

जानकारी के अनुसार मूल रूप से हिसार के राजीव नगर निवासी पवन कुमार पानीपत के नगर निगम में डीसी रेट पर करीब 11 साल से सुपरवाइजर के पद पर कार्यरत था। वह यहां माॅडल टाउन के शांति नगर में रहता था। बताया जाता है कि शुक्रवार सुबह उसने हिसार अपने बड़े भाई शिवकुमार को काॅल कर बताया कि उसका पत्नी के साथ झगड़ा हो गया है, आप तत्काल पानीपत आने के लिए कहा। लेकिन जब तक शिव कुमार पानीपत पहुंचता, तब तक पवन अपने 7 साल के बेटे दानिश के साथ स्कूटी से निकल गया था। बिंझौल नहर के किनारे पुलिस को उसकी स्कूटी, उसमें से एक सुसाइड नोट, 48 हजार रूपये की नगदी, 3 मोबाइल व पर्स बरामद हुआ। सुसाइड नोट में पवन ने लिखा है कि उसके बेटे और उसकी मौत की जिम्मेदार पूरी तरह एसकी पत्नी और उसका प्रेमी प्रकाश गुप्ता नाम का व्यक्ति है। पुलिस के अनुसार पवन ने अपनी पत्नी को फोन करके ये भी कहा कि वह बेटे के साथ नहर पर है और उसके साथ नहर में कूदकर आत्महत्या करने जा रहा है।


By

 
सिटी तहलका डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *