सुनाई नहीं देता तो कान साफ कर लीजिए ढांडा साहब।। मंत्री विज के सामने दलित नेता मुकेश वाल्मीकि ने कहा

city tehelka news panipat
पानीपत राजनीति विशेष स्टोरी

कष्ट निवारण समिति की बैठक की समाप्ति के करीब 1 घंटे बाद लघु सचिवालय के मीटिंग हाॅल में विज ने भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक ली। मीटिंग में उस समय हंगामा हो गया जब भाजपा एवं दलित नेता मुकेश वाल्मीकि ने ग्रामीण विधायक को कह दिया कि सुनाई नहीं देता तो कान साफ कर लीजिए ढांडा साहब। इस पर विधायक भी ताव में आ गए और मंत्री विज के सामने ही बोले, ये तो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जिसमें विधायक द्वारा किसी बात को सहन कर लिया जाता है, वरना किसी दूसरी पार्टी में ऐसा होता तो अब तक गोली चल जाती। इस पर मंत्री अनिल विज पहले तो दोनों की बात सुन हक्के-बक्के रह गए, लेकिन बाद में दोनों को शांत होने की सलाह दी। इससे यह तो साफ हो गया कि भाजपा में र्कलह खुलकर सामने आ गई है।

शुक्रवार को कष्ट निवारण समिति की बैठक करीब 4 बजे समाप्त हुई। इसके बाद मंत्री अनिल विज लंच करने चले गए। करीब एक घंटे बाद वे वापस लघु सचिवालय के सभागार में पहुंचे। यहां उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक ली। कुछ देर तक वे भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को पार्टी को और मजबूत बनाने की घुट्टी देते रहे। इसी दौरान पानीपत के गांव बबैल के भाजपा के एससी सेल नेता मुकेश वाल्मीकि ने मंत्री विज के समक्ष कहा कि महीने भर पहले शहर में सफाई कर्मचारी हड़ताल पर थे। इस दौरान ग्रामीण विधायक महिपाल ढांडा और शहरी विधायक रोहिता रेवड़ी ने सैकड़ों युवाओं को निगम में परमानेंट काम दिलवाने के नाम पर सफाई के काम में लगवाया था। लेकिन जैसे ही हड़ताल खत्म हुई तो उन्होंने इन युवाओं को निकाल दिया, जिसके बाद ये सभी बेरोजगार हो चुके हैं। इस बात पर बीच में ही महिपाल ढांडा मुकेश  वाल्मीकि से बोल पड़े कि क्या कह रहे हो। इस पर मुकेश वाल्मीकि ने उनको जवाब देते हुए कहा कि ढांडा साहब सुनाई नहीं देता तो अपने कान साफ कर लीजिए। इस बात पर बैठक में मंत्री विज के सामने ही हंगामा हो गया। इस दौरान ढांडा ने कड़क आवाज में कहा कि ये तो भारतीय जनता पार्टी है, जिसमें विधायक के लिए ऐसा शब्द प्रयोग किया गया है, अगर यही बात किसी दूसरी पार्टी के विधायक के बारे में बोली गई होती तो अब तक गोली चल जाती। आखिर मंत्री विज ने दोनों को शांत कर दिया।

सरकार देशभर में दे रहीं है स्वच्छता का संदेश, यहां कूड़ा भी नहीं उठ रहा : विज
बता दें कि सरकार ने पिछले दिनों जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक के तत्काल बाद इसी मीटिंग हाॅल में विभागाध्यक्षों और पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक का आयोजन करने का फरमान जारी किया था। इसके बाद शुक्रवार को कष्ट निवारण समिति की बैठक के बाद कार्याकर्ताओं की जिले में यह पहली बैठक थी। इस बैठक में कार्यकर्ता को अपनी समस्याएं रखने को कहा गया था। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने सर्व प्रथम नगर निगम क्षेत्र में कूड़े का उठान नहीं होने की समस्या उठा दी। इस पर मंत्री विज का कहना था कि सरकार देशभर में स्वच्छता का संदेश देने में लगी है, लेकिन यहां निगम अधिकारी को कूड़ा उठवाने में भी दिक्कत हो रही है। उन्होंने निगम अधिकारियों को आदेश दिया कि निगम अधिकारी जल्द ही इस समस्या का निदान करवाएं। इस दौरान गंगाराम स्वामी एडवोकेट ने आउटसोर्सिंग की भर्तियों में कार्यकर्ताओं की सुनवाई न होने की बात कही। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले एक सिक्योरिटी एजेंसी के माध्यम से 38 कर्मी लगा दिए गए थे, जिसमें विधायकों की कोई नहीं सुनी गईं।
  • city tehelka news panipat
    इस बात पर बीच में ही महिपाल ढांडा मुकेश  वाल्मीकि से बोल पड़े कि क्या कह रहे हो। इस पर मुकेश वाल्मीकि ने उनको जवाब देते हुए कहा कि ढांडा साहब सुनाई नहीं देता तो अपने कान साफ कर लीजिए।
मुख्यमंत्री के बबैल में आने के बाद से चली आ रही है तकरार 

ज्ञात रहे कि विधायक ढांडा और मुकेश वाल्मीकि के बीच उस से तकरार चली आ रही है, जब 2 माह पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल पीएम के मन की बात कार्यक्रम को सांझा करने के लिए पानीपत के गांव बबैल पहुंचे थे। लेकिन सीएम मुकेश वाल्मीकि के स्वागत कार्यक्रम में नहीं पहुंचे थे। मुकेश ने इसके लिए विधायक महिपाल ढांडा को जिम्मेदार बताया था। आरोप भी लगाया था कि ढांडा के कहने पर ही मुख्यमंत्री उनके कार्यक्रम में नहीं पहुंचे थे। इसके बाद गांव में मुकेश वाल्मीकि समेत भाजपा की एससी सेल के दलित नेताओं ने भाजपा से एक साथ इस्तीफा दे दिया था। बाद में उन्हें भाजपा के जिलाध्यक्ष ने उनके घर पहुंचकर बड़ी मुश्किल से राजी किया था। अब फिर से ढांडा और मुकेश वाल्मीकि के बीच नया विवाद खड़ा हो गया है। अब यह तो वक्त ही बताएगा कि भाजपा के दिग्गज इस मामले को कैसे सुलटाते हैं।


by
प्रदीप रेढ़ू
सिटी तहलका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *