रांग साइड चलने पर स्टूडेंट्स को भी नहीं बख्शा।। काट दिए ट्रैफिक पुलिस ने चालान

panipat plice news
पानीपत विशेष स्टोरी

पानीपत की ट्रैफिक पुलिस चालान काटने में इस समय सबसे आगे है। चाहे कोई नियम का पालन करे या न करे। वाहनों को हाईवे पर रोककर चालान काटना उनका रोज का काम हो गया है। वहीं चोर-उचक्के पुलिस को चकमा देकर रफू चक्कर हो जाते हैं। वीरवार को ट्रैफिक पुलिस ने फिर चैकिंग अभियान चलाया और इसके तहत जीटी रोड पर गोहाना मोड़ पर गुरुद्वारे के पास चैकिंग वाहनों की चैकिंग की। इस दौरान रांग साइड से चलने वाले करीब 24 लोगों के चालान काटे गए। इनमें 7 महिलाएं और छात्राएं शामिल हैं।

नहीं पहनते लोग हैलमेट, करते हैं ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन

चैकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने रॉग साइड चलने वाले लोगों के कागजात चैक किए। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि जो लोग हैलमेट का प्रयोग नहीं करते और नियमों की धज्जियां उड़ाते हैं उनके चालान काटना पुलिस की ड्यूटी है। ट्रेफिक पुलिस के एक अधिकारी ने बताया आम पब्लिक ही नहीं वरन स्कूल कॉलेज जाने वाले बच्चे और भी ज्यादातर अपने वाहन रॉग साइड से लेकर आते-जाते है। इससे एक्सीडेंट होने का भी हमेशा अंदेशा बना रहता है। बहुत सी महिलाएं भी स्कूटी चलाते समय हैलमेट पहनना पंसद नहीं करतीं। जबकि ये लोगों की सेफ्टी के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इसी के मद्देनजर आज ज्यादातर महिलाओं और छात्राओं को रोका गया। कुल 24 चलान काटे गए। इनमें 7 छात्राएं और महिलाएं शामिल थीं।

  • panipat plice news
    इस दौरान रांग साइड से चलने वाले करीब 24 लोगों के चालान काटे गए। इनमें 7 महिलाएं और छात्राएं शामिल हैं।
पुलिस के लिए भी नियम-कानून जरूरी 

दरअसल पुलिस पब्लिक से तो नियम और कानून का पालन करने के लिए कहती है, लेकिन अगर वह खुद भी इन नियमों का पालन करना सीख जाए तो और बेहतर होगा। इस समय जीटी रोड ही नहीं वरन हर गली नुक्कड़ पर आपको ट्रैफिक पुलिस वाले वाहनों की चैकिंग करते मिल जाएंगे। कई बार ये ऐसे लोगों को भी पकड़ लेते हैं जिनके पास सभी चीजें पुख्ता होती हैं, लेकिन इसके बाद भी पुलिस कोई न कोई कमी निकाल ही देती है और बेमतलब उनका चालान काट देती है। जबकि पुलिस महकमे भी सैकड़ों पुलिस कर्मी ऐसे हैं जो खुद ही नियमों को ताक पर रख हाइवे पर वाहन चलाते हैं। शायद इनका चालान करने वाला कोई नहीं। क्योंकि इनका स्टाफ का मामला हो जाता है।


by
मनोज कुमार 
सिटी तहलका 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *