शंख और घण्टाला बजाएंगे सफाई कर्मचारी,सूर्य उदय से पहले सांसदों व विधायकों को जगायेंगे नींद से!

safayi karmchari panipat
पानीपत विशेष स्टोरी

जी हां अब सफ़ाई कर्मचारियों के हाथ मे झाड़ू नही बल्कि शंख और घण्टाला होगा ! हरियाणा में निगम सफाई कर्मी लंबे समय से हड़ताल पर हैं और सरकार के साथ कई बार समझौता वार्ता फेल हो चुकी हैं इसी के मद्देनजर कर्मचारियों ने अब प्रदेश भर में नई स्टाइल से हड़ताल करने की योजना बनाई है। यह जानकारी देते हुए आज हरियाणा सफाई कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुनील शास्त्री ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बतलाया कि निगम के सफाई कर्मी अब नए स्टाइल से हड़ताल करेंगे जिसके तहत 23 व 24 मई को सफाई कर्मचारी प्रदेश के सभी भाजपा सांसदों व विधायको के घर के सामने शंख व घण्टाला बजाएंगे।

safayi karmchari panipat

कर्मचारी शंख व घण्टाला सूर्य -उदय से पहले बजाएँगे । शास्त्री ने बताया कि कर्मचारी लम्बे समय से हड़ताल पर हैं उसके बावजूद हरियाणा सरकार नींद से नही जाग रही है तो सरकार को कुम्भकर्णी नींद से जगाने के लिए ऐसा किया जा रहा है। कर्मचारी नेता ने बतलाया कि यदि सरकार फिर भी नहीं चेती तो 25 मई से प्रदेश भर में 24 घंटे के लिए भूख हड़ताल शुरू हो जाएगी ।भूख हड़ताल तहत रोजाना सभी नगर निगमों में 11, नगर परिषदों में 5, नगर पालिकाओं में 2/2 कर्मी बारी-बारी से 24 घन्टे के लिए भूख हड़ताल पर बैठेंगे ।

रोडवेज व बिजली कर्मचारी यूनियन ने भी किया समर्थन का ऐलान :-हरियाणा रोडवेज व बिजली कर्मचारी यूनियन ने भी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल को समर्थन देने की घोषणा की है । रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने सरकार से मांग की है कि अतिशीघ्र सफाई कर्मचारियों की मांगें मानी जाए अन्यथा रोडवेजकर्मी भी सफाई कर्मचारियों की मांगो के समर्थन में उतरकर चक्का जाम कर देंगे। वही बिजली निगम कर्मचारी यूनियन ने सफाई कर्मचारियों के समर्थन में 25 मई को गेट मीटिंग बुलाने का ऐलान किया है। प्रदेश भर के सभी खण्डों में 25 तारीख को सुबह गेट मीटिंग कर सफाई-कर्मियों की हड़ताल को खुला समर्थन दिया जाएगा।

 

 

रोडवेज यूनियन वह बिजली निगम कर्मचारियों कि यूनियन के सफाई कर्मियों के पक्ष में कूदने से सरकार की चिंताएं भी बढ़ गई हैं । सरकार का प्रयास है कि कोई न कोई बीच का रास्ता निकाल कर इस हड़ताल को तुरंत समाप्त करवाया जाए । इसके लिए हरियाणा सरकार ने भी त्रीव गति से प्रयास शुरू कर दिए हैं। सफाई कर्मियों की हड़ताल से सारे प्रदेश में सफाई व्यवस्था चरमरा गई है और सभी शहरों और कस्बों में जगह-जगह गंदगी व कूड़े के ढेरों ने आम आदमी को परेशान करके रख दिया है।

 

 

 


By

नीरज कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *