पानी की किल्लत से परेशान लोगों ने फिर काटा बवाल।। ROAD जाम कर की विभाग के खिलाफ नारेबाजी 

11 जून को भी किया था ट्यूबवेल पर मटका तोड़ प्रदर्शन, आॅपरेटर पिटते-पिटते बचा था
पानीपत विशेष स्टोरी

पानीपत में पानी की किल्लत से परेशान वार्ड 6 वासियों का सब्र जवाब दे गया। परेशान होकर वार्ड वासियों ने बबैल रोड पर जाम लगाकर  विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। वार्ड वासियों आरोप है कि 2 महीने से सरकारीट्यूबवेल खराब है। पानी की एक-एक बूंद के लिए लोग तरस चुके हैं। लेकिन विभाग के कानों पर जूं तक नहीं रेंगती। पानी की किल्लत के चलते वार्ड 6 के लोग इससे पहले मटका फोड़ प्रदर्शन भी कर चुके हैं। जाम के कारण काफी समय तक रोड पर दोनों ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग र्गइं। सूचना मिलते ही पुलिस और स्थानीय पार्षद भी मौके पर पहुंचे। काफी मशक्कत के बाद वार्डवासियों को मनाया गया। आश्वासन के बाद वार्ड वासियों ने जाम खोल दिया।

  • जबकि इससे पहले जाम लगाने वाले लोग कई बार चेतावनी दे चुके थे।
    जबकि इससे पहले जाम लगाने वाले लोग कई बार चेतावनी दे चुके थे।
2 माह से क्यों नहीं हुई समस्या हल?

सवाल यह उठता है आखिर 2 महीने तक विभाग ने क्या किया? जबकि इससे पहले जाम लगाने वाले लोग कई बार चेतावनी दे चुके थे। क्यों विभाग ने अभी तक इस ओर ध्यान देना मुनासिब नहीं समझा? जबकि वार्डवासी पानी के लिए परेशान हो चुके हैं। लोगों का कहना है कि अगर जल्द ही पानी की समस्या दूर नहीं की तो वे यहां से पलायन करने को मजबूर हो जाएंगे।

11 जून को भी किया था ट्यूबवेल पर मटका तोड़ प्रदर्शन, आॅपरेटर पिटते-पिटते बचा था

वार्ड के सैकड़ों महिला-पुरुष 11 जून को भी पानी सप्लाई करने वाले ट्यूबवेल पर पहुंचे थे। पहले उन्होंने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए मटके तोडे़। इसके बाद अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाई। इस दौरान ट्यूबवेल पर उन्हें आॅपेरटर मिल गया। उन्होंने तत्काल उसको पकड़ लिया। आॅपरेटर ने जब लोगों का गुस्सा देखा तो वह डर गया और उसने हाथ जोड़कर लोगों से अपना पीछा छुड़ाया। उस समय लोगों को जिस प्रकार गुस्सा चढ़ा था, उसके सामने आॅपरेटर की कोई खैर नहीं थी।


by
प्रदीप रेढ़ू
सिटी तहलका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *