एसपी संगीता कालिया के बैठक में फिर गैरहाजिर रहने पर मंत्री अनिल विज भड़के।। एएसपी से पूछा कहां हैं आपकी एसपी?

पानीपत राजनीति विशेष स्टोरी सामाजिक

पानीपत में आज कष्ट निवारण समिति की बैठक पूरी तरह हंगामेदार रही। बैठक के पटल पर कुल 17 शिकायतें रखी गईं। इनमें कई पर हंगामा बरपा। इस दौरान जहां कई अधिकारियों को शिकायतकर्ताओं के सवालों का जवाब ठीक ढंग से न दिए जाने पर स्वास्थ्य मंत्री एवं समिति अध्यक्ष कर फटकार लगाई, वहीं बैठक के पटल पर पहली ही शिकायत पुलिस से संबंधित आने पर विज पुलिस अधीक्षक को आज फिर  बैठक में शामिल न होने पर भड़क गए। उनकी जगह बैठक में आए एएसपी चंद्रमोहन से सवाल करते हुए कड़क कर बोले कहां हैं आपकी एसपी साहिबा? पिछली बैठक में भी नहीं आई थी। वो हमेशा मिटिंग में न आने के लिए बाहर होने का बहाना बना देती हैं। ऐसा नहीं चलेगा। उनसे संबंधित शिकायतों की पैरवी कौन करेगा? लगता है अब इस बारे में मुख्यमंत्री से बात करनी ही पड़ेगी।

बता दें कि जब से एसपी संगीता कालिया का पानीपत तबदला हुआ है, तब से ग्रीवेंस कमेटी की करीब 3 बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन संगीता कालिया ने 1 में भी शिरकत नहीं की। इससे मंत्री विज खिन्न हो गए हैं। ज्ञात रहे एसपी संगीता कालिया वही एसपी हैं, जिनका फेतहाबाद में कष्ट निवारण समिति की ही एक बैठक के दौरान मंत्री अनिल विज से एक शिकायत पर अच्छी-खासी भिड़त हो गई थी। इसके बाद विज बैठक छोड़कर निकल गए थे। इसके बाद मंत्री विज को पानीपत कष्ट निवारण समिति का अध्यक्ष बना दिया गया था। जबकि एसपी का तबादला रेवाड़ी में कर दिया गया था। लगभग 2 माह पहले संगीता कालिया का तबादला भी पानीपत में कर दिया गया। तब से अब तक एसपी कष्ट निवारण समिति की एक भी बैठक में नहीं पहुंची। यह देख अब पानीपत के लोग भी इसको को फतेहाबाद के मसले से जोड़कर देखने लगे हैं। दूसरी शिकायत पर एएसपी मंत्री विज के सवालों का संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए, जबकि आरोपित एक्सपोर्टर ने मंत्री के सामने इस शिकायत के बाद पूरे सुबुत पेश करने के बाद भी पुलिस पर संतोषजनक कार्रवाई न करने का आरोप लगाया। मंत्री विज ने इस पर एक्सपोर्टर को दोबारा कोर्ट में याचिका डालने की सलाह दी।

विधायक रोहिता रेवड़ी की शिकायत रखने पर बोल ही दिया आप रख रहीं हैं शिकायत!

 विधायक रोहिता रेवड़ी द्वारा शिकायत रखने की बात सनुते ही मंत्री अनिल विज चैंक गए और बोल पड़े, आप भी शिकायत रख रही हैं। बोले, क्या इन शिकायतों के बारे में आपने प्रशासन से बात की है। हालांकि उनकी दोनों शिकायतों पर काफी देर तक बहस चल चली। इस मामले पर संबंधित कालोनी के एक-दो लोगों ने तो जमीन पर कब्जा करने वालों को बदमाश तक की संज्ञा दे डाली। मंत्री जी ने विधायक की दोनों शिकायतों पर गौर फरमाते हुए पार्क पर कब्जे की जांच के लिए अधिकारियों के साथ पार्षद हरीश शर्मा और भाजपा नेता डा. सरेंद्र टुटेजा को कमेटी में शामिल करने तक का निर्णय दिया। मंत्री विज ने कड़े स्वर में कहा कि वे इस प्रकार कब्जे किसी हालत में नहीं होने दंेगे, जो व्यक्ति तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर कोर्ट को भी गुमराह कर रहा हो। अगर निर्माण हो रहा तो अधिकारी तत्काल हटवाएं। बच्चों के खेलने का पार्क है। वहीं रेवड़ी की दूसरी शिकायत पर अधिकारियों से जवाब मांगा गया। अधिकारियों ने मंत्री को इस मामले की याचिका कोर्ट में लगाने की बात कही। मंत्री ने कहा कि इसके लिए ठीक-ठाक वकील करो और रास्ते को खाली कराओ। वहीं तीसरी शिकायत बबैल रोड स्थित डायमंड एक्सपोर्ट के मालिक रमेश वर्मा की थी। जिस पर संज्ञान लेते हुए विज ने रमेश वर्मा से दरखास्त लेने और कमीशन खोरी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज करने की हिदायत संबंधित अधिकारियों को दी।

  • city tehelka news panipat
    पानीपत में आज कष्ट निवारण समिति की बैठक पूरी तरह हंगामेदार रही। बैठक के पटल पर कुल 17 शिकायतें रखी गईं
विशनस्वरूप कालोनी के पार्क से संबंधित शिकायत पर आरोपित व्यक्ति की पत्नी किया हंगामा 

बिशनस्वरूप कालोनी से संबंधित 7वीं शिकायत पर तो मीटिंग हाॅल में जमकर हंगामा हो गया। शिकायतकर्ताओं ने मंत्री विज को जहां कालोनी के पार्क पर कब्जे से संबंधित विस्तृत कहानी सुनाई, जिस पर मंत्री ने निगम अधिकारियों से कहा कि आपको आपके माल का पता नहीं कहां-कहां पड़ा है। जांच कर 10 दिन में पार्क खाली कराओ। इस पर वहां मौजूद आरोपित व्यक्ति बलवान सिंह की पत्नी सुनीता ने शिकायतकर्ताओं को भी आडे़ हाथों लेते हुए मंत्री के सामने ही उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई। यहां तक कि महिला ने शिकायत करने वाले व्यक्ति की पोल खोलते हुए उसे फर्जी डाक्टर तक कह डाला। यहीं नहीं महिला ने यह भी कहा कि सर आप प्रीस्टीयस मंत्री हैं। हमारे सभी डाॅक्यूमेंट्स ठीक हैं। सीएम विंडो पर भी शिकायत का कुछ नहीं होता। कालोनी के कुछ लोगों ने शिकायत करने के लिए नकली डाॅक्टर को आगे कर रखा है। जबकि सही आदमी की सुनी नहीं नहीं जा रही। महिला ने अपने पढे़-लिखे होने का भी मंत्री के सामने खूब प्रचार किया। जैसे ही शिकायत पूरी हुई, और महिला बाहर निकली तभी शिकायतकर्ता भागते हुए अंदर आया और कहा, देखलो मंत्री साहब महिला बाहर जाकर उसे देख लेने की धमकी दे रही है। इस दौरान कुछ देर तक हंगामा हुआ। बैठक की कार्रवाई भी रूक गई। बाद में पुलिस ने मामला शांत कर दिया। कुल मिलाकर आज की बैठक में बैठक अध्यक्ष विज ने अधिकारियों की खूब क्लास लगाई, मंत्री की डांट खाने वालों में ज्यादातर नगर निगम के अधिकारी रहे।

जिला विकास अधिकारी को कहा आपके खिलाफ जांच आ गई तो बख्शूंगा नहीं

पटल पर आई 9वीं शिकायत पर शिकायतकर्ता के सवालों का जवाब देने में जिला विकास अधिकारी को पसीना आ गया। इस पर मंत्री थोड़ी देर तक तो अधिकारी को गौर से देखते रहे, लेकिन बाद में अधिकारी को फटकार लगाते हुए बोले कि भ्रष्टाचारियों को बचाना चाहते हो। यदि किसी ने आपके खिलाफ शिकायत की और जांच उनके पास तक पहुंच गई तो बख्शूंगा नहीं। उन्होंने कहा कि आपके जवाब और शिकायतकर्ता के सवालों में जमीन-आसमान का अंतर है। आपको शिकायतकर्ताओं को पूरा सहयोग देना चाहिए ना कि भ्रष्टाचिारियों को बचाना चाहिए। इसकी रिपोर्ट अगले महीने तक चाहिए। इसके अलावा अन्य सभी शिकायतों पर भी मंत्री अनिल विज ने पूरी तरह संज्ञान लेकर अधिकारियों को शिकायतकर्ताओं को पूरी तरह संतुष्ट करने की हिदायत दी।


by
अजय राजपूत
सिटी तहलका

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *