कैप्टन अभिमन्यु ने मां का दूध पिया है तो वे भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं: यशपाल मलिक

captain abhimanu vs yaspal malik
पानीपत राजनीति रोहतक विशेष स्टोरी सामाजिक
पानीपत, 28 जुलाई।

जाट आरक्षण को लेकर अब सरकार और यशपाल मलिक गुट की सरकार के साथ खिंचाई तेज हो रही है। एक ओर जहां मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के आरोपों पर लगातार आरोप-प्रत्यारोपों का दौर चल रहा है, वहीं अब यशपाल मलिक ओपी धनखड़ के किसी रिश्तेदार को भी बीच में ले आए हैं। यशपाल मलिक ने कहा कि कैप्टन अभिमन्यु अपने बीजेपी वालों के नाम नहीं ले रहे हैं। जबकि साल 2016 में जाट आरक्षण की शुरुआत कृषि मंत्री ओपी धनखड़ के किसी रिश्तेदार ने की थी। उसका नाम कहीं भी शामिल नहीं किया गया। यशपाल मलिक ने कहा कि अगर कैप्टन अभिमन्यु ने मां का दूध पिया है तो वो भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाए।

शनिवार को कैथल में जाट आरक्षण संघर्ष समिति की ओर से एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने शिरकत की थी। यहां यशपाल मलिक समेत तमाम जाट नेताओं ने आरक्षण को लेकर रणनीति तैयार की। उन्होंने कहा कि सिर्फ आरोप लगाने से कुछ नहीं होता। उसके लिए सामने आना पड़ता है। रही बात आरक्षण की तो उसके लिए काफी हद तक रणनीति तैयार कर ली गई है, जब पूरी रणनीति 16 अगस्त तक बना ली जाएगी। 

जसिया में 12 अगस्त को जाट नेताओं की बैठक

यशपाल मलिक ने बताया कि 12 अगस्त को जसिया में जाट नेताओं की बैठक होगी, जिसके बाद जाट आरक्षण से संबंधित रणनीति तैयार करने के लिए 16 अगस्त को बैठक होगी। उन्होंने कहा कि इस बैठक में आरक्षण की लड़ाई के लिए रणनीति को अंतिम रूप भी दे दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार आर-पार की लड़ाई होगी।


by

सिटी तहलका डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *