डॉ.एम.के.के आर्य मॉडल स्कूल विद्यालय का स्थापना दिवस बड़ी ही धूम-धाम से मनाया गया ||

पानीपत विशेष स्टोरी सामाजिक

28 ,अगस्त  पानीपत।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विद्यालय के प्रधान श्री बलजीत कपूर, उपप्रधान श्रीमती रितु कपूर एवं श्री संजीव कपूर, श्रीमती ज्योति कपूर, श्रीमती कोमल कपूर, श्री प्रणव कपूर, प्रबन्धक कमेटी के सदस्य श्री वी.के. मुंजाल, श्री गुरुदीप सिंह, निदेशक महोदय श्री रोशनलाल सैनी, प्रधानाचार्या श्रीमती मंजू सेतिया, उपप्रधानाचार्या सुश्री मीरा मारवाहा, उपप्रधानाचार्य डॉ.अनुज सिन्हा ,प्रशासनिक अधिकारी संजीव शर्मा, जसबीर कुमार, गणमान्य अतिथि, अध्यापकगण एवं विद्यालय के विद्यार्थी उपस्थित थे। आदरणीय मुख्य अतिथि श्री बलजीत कपूर के पदार्पण करते ही विद्यालय के मुख्य द्वार पर निदेशक महोदय एवं प्राचार्या जी ने पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका हार्दिक स्वागत किया| विद्यालय के बैंड की मधुर ध्वनि ने स्वागत की इस औपचारिकता को गरिमापूर्ण बना दिया| तत्पश्चात मुख्य अतिथि द्वारा विद्यालय के संस्थापक महाराज कृष्ण कपूर जी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए गए ।

डॉ० महाराज कृष्ण कपूर ने छात्राओं के जीवन स्तर को ऊँचा उठाने के लिए सर्वप्रथम अपनी माँ की याद में “माता हरकौर गर्ल्स हाई स्कूल” की स्थापना हाफ़िजाबाद में की । स्वतन्त्रता प्राप्ति के पश्चात उन्होंने इस स्कूल की स्थापना 1951 में पानीपत में की थी ।कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर हवन की पवित्र आहुतियों के साथ किया गया| जिसमें अतिथिगण के साथ संस्था के सभी सदस्यों तथा विद्यार्थियों ने पूर्ण श्रद्धा के साथ भाग लिया|

मुख्य अतिथि श्री बलजीत कपूर द्वारा अत्याधुनिक टिंकरिंग लैब का उद्घाटन किया। 

हमारे विद्यालय की रोबोटिक लैब,आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेन्स लैब,इनोवेटिव लैब,मैथ लैब, कम्प्युटर लैब तथा साइंस लैबस( बायो, केमिस्ट्री, फ़िज़िक्स लैब) विद्यार्थियों को 21वीं सदी की तकनीकी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम बनाती है| सी.बी.एस.ई. द्वारा विद्यालयों में शैक्षणिक गुणवत्ता बेहतर बनाने के लिए टिंकरिंग लैब स्थापित करने की योजना बनाई गई है| स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर मुख्य अतिथि श्री बलजीत कपूर जी ने विद्यालय के विज्ञान संकाय द्वारा स्थापित अत्याधुनिक टिंकरिंग लैब का उद्घाटन किया।  टिंकरिंग लैब की स्थापना का मुख्य उद्देश्य युवाओं को ऐसा कौशल प्रदान करना और उन्हें उस प्रौद्योगिकी तक पहुंच प्रदान करना है जो उन्हें समाधान प्रस्तुत करने में सक्षम बनाएगा। इसमें विद्यार्थियों को साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग एंड मैथमेटिक्स की मूलभूत अवधारणा को समझने में आसानी होगी|

श्रीमती बिंद्रा देवी कपूर सभागार की ओर प्रस्थान किया।

तत्पश्चात सभी ने श्रीमती बिंद्रा देवी कपूर सभागार की ओर प्रस्थान किया। जहाँ विद्यालय के डिप्टी हैड ब्वॉय कुमार वासु ने अत्यंत सौम्य शब्दों में सम्मानित अतिथियों का स्वागत किया। इसके पश्चात विद्यालय के विद्यार्थियों ने गीत गाकर महाराज कृष्ण कपूर जी को श्रद्धांजली अर्पित की। भक्ति संगीत की विधा तन मन को शीतलता प्रदान करने वाले ‘सबद’ के स्वरों ने श्रोताओं को भाव गंगा में डूब जाने को विवश कर दिया। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए विद्यालय की हैड गर्ल कुमारी प्रिया ने अपने भाषण द्वारा डॉ. महाराज कृष्ण कपूर के इतिहास की गरिमा को रखा| ‘भक्ति’ भारतीय साहित्य और संगीत की आत्मा है। कोई भी आयोजन ईश्वरीय आहवान के बिना अधूरा ही रहता है। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने सुमधुर स्वरों में भजन गाकर सम्पूर्ण वातावरण को भक्तिमय बना दिया।

कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए विद्यार्थियों ने भगवान गणेश की आराधना को नृत्य के रूप में प्रस्तुत किया। जिसने सभी को मस्ती में झूमने पर विवश कर दिया। भक्ति के इसी वातावरण को और भी भावपूर्ण बनाते हुए विद्यार्थियों ने आध्यात्मिक प्रेम की मस्ती से युक्त सूफी नृत्य प्रस्तुत कर श्रोताओं को अपने स्वरों से उत्पन्न भावों के रस में सराबोर कर दिया। गणपति नृत्य को प्रस्तुत कर विद्यार्थियों को अध्यात्मिकता के अर्थ व भगवान के प्रति श्रद्धा और समर्पण को सिखाया गया। भगवान श्रीकृष्ण की मनमोहक छवि का चित्रण नृत्य के माध्यम से इस प्रकार प्रस्तुत किया गया कि सभी दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए साथ ही पूरा सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

तत्पश्चात श्री संजीव कपूर जी ने बच्चों की सांस्कृतिक गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि वास्तव मेँ शिक्षा जीवन का आधार है। बच्चों की नैसर्गिक प्रतिभा स्कूल से ही मुखरित होती है। सभी विद्यार्थी अनुशासन मेँ रहते हुए परिश्रमी बनें और देश-विदेश, समाज और मानवता के प्रति अपना कर्तव्य निभाएँ | उन्होंने कहा कि निर्माण, परिवर्तन और गतिशीलता किसी भी संस्था की निरंतर उन्नति व विकास का प्रतीक होती हैं। हम केवल इमारतों के निर्माण को ही विकास का अंतिम आयाम नहीं मानते, अपितु विद्यालय मेँ आने वाले विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण, अध्ययन का शांत वातावरण छात्राओं की पूर्ण सुरक्षा व कड़े अनुशासन मेँ हम पूर्ण विश्वास रखते हैं|

|| उपस्थित समूहगण ने हमारे प्रबंधक कमेटी के सदस्य प्यारेलाल जी को भावपूर्ण श्रधांजलि अर्पित की ||

     || अंत मेँ डिप्टी हैड गर्ल कुमारी जैसलीन ने आए हुए सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया||

 


by 

मनोज कुमार

सिटी तहलका

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *