सीएम नहीं पहुंचे दलित व मुस्लिम समाज के न्यौते पर, खिन्न होकर विक्की पुहाल ने पार्टी से ही इस्तीफा दे डाला

पानीपत राजनीति सामाजिक

पानीपत के बबैल गांव में रविवार को मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर कई भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के घर पहुंचे। उनके आने की खुशी में गांव के दलित व मुस्लिम समाज के लोग बेहद खुश थे। इस खुशी के चलते उन्होंने मिलकर पार्टी के अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश सचिव मुकेश वाल्मीकि के घर के पास बकायदा टेंट लगाकर सीएम को चाय-पानी पर न्यौता दिया था। सीएम ने उनके पास आने को भी कहा था, लेकिन पूरी तैयारी के बाद भी सीएम वहां तक नहीं पहुंचे। इससे समाज के लोग नाराज हो गए। अनसूचित मोर्च के सह मीडिया प्रभारी विक्की पुहाल तो इतने खिन्न हुए कि उन्होंने पार्टी से इस्तीफा ही दे डाला।

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री को उनके पास न आने देने में ग्रामीण विधायक महिपाल ढांडा का पूरा हाथ है। उन्होंने ही सीएम को यहां आने से मना किया है। समाज के लोगों का यह भी आरोप है कि जब चुनाव का समय होता है तो यही नेता उनसे भीख की तरह वोट मांगते हैं, उनके घर में बैठकर आराम से चाय-नाश्ता करते हैं। लेकिन जब चुनाव जीत जाते हैं तो इस समाज को पूरी तरह दर-किनार कर दिया जाता है। इसका सीधा प्रमाण आज की घटना है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगो को इसका खामियाजा आने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में देखने को मिलेगा। उन्होंने ये भी कहा कि अगर सीएम पहले ही उन्हें मना कर देते तो वे इतने नाराज नहीं होते, जितना दूसरों के कहने से वे उनके पास नहीं गए। जबकि उनका कार्यक्रम महज बीस मीटर की दूरी पर था।

समाज के अन्य लोगों का भी यही कहना है कि बहरहाल बात कुछ भी हो, लेकिन इतना जरूर है कि सीएम ने दलित और मुस्लिम समाज का न्यौता स्वाकीर करने के बाद भी उनके घर तक नहीं पहुंचकर अच्छा नहीं किया। यह किसके कहने पर किया है यह समाज के सभी लोगों भलीभांति पता है। अगर यहां नहीं आना था तो दूसरी जातियों के लोगों के घर चाय-पानी पर क्यों पहुंचे। यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि उंट किस करवट बैठता है।

 वीडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें ……https://www.youtube.com/watch?v=WXbSF7oIEKc

BY

BY

प्रदीप रेढ़ू 
सिटी तहलका 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *