मेरे अजीज बिल्लू  ये चश्मा व इनेलो तुम्हें गिफ्ट करता हूं, इसे संभाल कर रखना-अजय चौटाला

पानीपत म्हारा हरियाणा राजनीति विशेष स्टोरी हिसार

 

जींद : कार्यकर्ताओं का अब और अपमान सहन नहीं हो रहा 9 दिसंबर को जींद मे करेंगे न्याय यु्द्ध का शंखनाद

जींद, 17 नवंबर। 23 मार्च 1986 को जींद के जिस मैदान से जननायक चौ. देवीलाल ने न्याय युद्ध का बिगुल बजाया था, आज उसी मैदान पर जननायक  के पौत्र अजय चौटाला ने एक और न्याय युद्ध का शंखनाद कर दिया। चौ. देवीलाल के न्याय य्दध की साक्षी बनी जींद की धरा को नमन करते हुए डा. अजय चौटाला ने भरे मन से इनेलो को अलविदा कहते हुए कहा कि ……मेरे अजीज बिल्लू ये चश्मा व इनेलो तुम्हें गिफ्ट करता हूं, इसे संभाल कर रखना, अब कार्यकर्ताओं का और ज्यादा अपमान मुझसे सहन नहीं होता। पिछले कई महीनों से मैं इस अपमान के घूंट को पी रहा था लेकिन अब तो इंतहा हो गई। डा. चौटाला ने जींद के ताऊ देवीलाल ग्रांउड में उमड़े लाखों लोगों की भीड़ संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार चौ. देवीलाल ने इसी मैदान से अन्याय के खिलाफ न्याय युद्ध की शुरूआत की थी, उसी तरह इसी धरा से 9 दिसंबर को न्याय युद्ध की शुरूआत होगी। अजय चौटाला की इसी घोषणा के साथ ही मैदान में आए इनेलो के सैंकड़ों पदाधिकरियों ने अपने पदों से इस्तीफे की घोषणा करते हुए इनेलो को अलविदा कह दिया। इससे पहले दीप पैलेस में अजय चौटाला द्वारा बुलाई गई इनेलो कार्यकारिणी की बैठक हुई।

बैठक में हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंत राम तंवर की अध्यक्षता का प्रस्ताव रखा जिसे समस्त कार्यकारिणी ने हाथ उठा कर पास कर दिया। इसके बाद पदाधिकारियों ने मीटिंग में विचार रखे तथा सभी पदाधिकारियों ने ध्वनि मत से यह प्रस्ताव पास किया कि डा. अजय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला एवं दिग्विजय चौटाला का निष्कासन असंवैधानिक है।  वक्ताओं ने बैठक में कहा कि सांसद दुष्यंत चौटाला एवं दिग्वजय चौटाला के कारण इनेलो में एक नई जान आई है और प्रदेश के अधिकतर युवा पार्टी के साथ जुड़े हैं। इसके अतिरिक्त डबवाली की विधायक नैन सिंह चौटाला के हरी चुनरी की चौपाल कार्यक्रम ने इनेलो में महिलाओं को जोडऩे का अभूतपूर्व काम किया है। कार्यकारिणी ने माना कि एक साजिश के तहत इन सभी का निष्कासन किया गया है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैंने संगठन को मजबूत करने के लिए 16 -16 घंटे काम किया है, बताओ मैंने कहां अनुशासनहीनता की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैंने प्रदेश की हर समस्या सड़क से लेकर संसद तक उठाई है और अगर प्रदेश के लोगों की समस्याएं उठाना अनुशासनहीनता है तो यह अपराध मैं जीवन भर करता रहूंगा। इसके बाद उपस्थित पदाधिकारियों ने पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा की। जिनमें प्रमुख रूप से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंतराम तवंर, इनेलो की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष फूलवती देवी,इनेलो के राष्ट्रीय महासचिव ब्रिज शर्मा, राष्ट्रीय प्रवक्ता डा. केसी बांगड, राष्ट्रीय सचिव कंवर सिंह कलवाड़ी, पूर्व मंत्री जगदीश नैय्यर, पूर्व स्पीकर सतबीर कादियान, पूर्व मंत्री हरिसिंह सैनी, पूर्व विधायक निशान सिंह, पूर्व विधायक गंगाराम, पूर्व विधायक विरेंद्रपाल, पूर्व विधायक मूलाराम, पूर्व विधायक मक्खन सिंह, पूर्व विधायक रणसिंह बैनिवाल, पूर्व विधायक नरेंद्रसांगवान,  पूर्व विधायक रामकुमार सैनी, पूर्व विधायक ईश्वर पलाका,  एससी सैल के प्रदेशाध्यक्ष अशोक शेरवाल, महिला विंग की प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण,  बीसी सैल के प्रदेशाध्यक्ष तेलूराम जोगी,  बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष जगदीश कादियान, जींद जिला प्रधान कृष्ण राठी, झज्जर जिला प्रधान राकेश जाखड़, महेंद्रगढ़ जिला प्रधान सतबीर सिंह नौताना, मेवात के जिला प्रधान बदरूद्दीन,सोनीपत जिला प्रधान पदम सिंह दहिया, दादरी के प्रधान रहे नरेश द्वारका, सोनीपत के पूर्व प्रधान कुलदीप मलिक, हिसार के निवर्तमान प्रधान राजेंद्र लितानी,  सदस्य प्रदेश कार्यकारिणी जयप्रकाश कंबोज, कार्यकारिणी सदस्य भूदेव शर्मा, युवा इनेलो के प्रदेश प्रभारी प्रदीप गिल, निवर्तमान युवा प्रदेशाध्यक्ष रविंद्र सांगवान, अंबाला से लोकसभा प्रत्याशी रही एवं इनेलो की वरिष्ठ नेत्री व कार्यकारिणी सदस्य कुसुम शेरवाल,इनसो के प्रभारी रणधीर सिंह चीका, के निवर्तमान प्रदेशाध्यक्ष व  प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य धर्मपाल छौत, कार्यकारिणी सदस्य तूहीराम भारद्वाज, कर्यकरिणी सदस्य धर्मपाल मकड़ौली, राजकुमार रिढाऊ सदस्य पूर्व चेयरमैन दयानंद कुंडू सहित सैंकड़ों पदाधिकारी शामिल हैं। दिल्ली प्रदेश की समस्त इनेलो कार्यकारिणी ने इनेलो से इस्तीफा देकर डा. अजय सिंह चौटाला को समर्थन देने का ऐलान किया। जिनमें प्रमुख रूप से दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष हरिसिंह राणा, दिल्ली प्रदेश प्रवक्ता दिनेश डागर, वरिष्ठ उपप्रधान ओमप्रकाश सहरावत, हेमचंद्र भट्ट, प्रचार सचिव जयवीर गांधी, कार्यालय सचिव प्रदीप शौकीन, पूर्व विधानसभा प्रत्याशी विक्रम देशवाल, पूर्व सैनिक सेल के प्रधान गोपाल सिंह मोर हैं। इसके अलावा हरियाणा प्रदेश के इनेलो के जिला स्तरीय, हलका स्तरीय एवं विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों ने इनेलो छोड़ कर अजय सिंह का साथ देने की घोषणा की और कल से पूरे प्रदेश में औपचारिक रूप से जिलेवार इस्तीफा देने का क्रम चलेगा। पूर्व विधायक एवं कांग्रेसी नेता नफे सिंह वाल्मीकि ने कांग्रेस पार्टी छोड़ कर आज अजय चौटाला को अपना समर्थन दिया। इस अवसर पर विधायक राजदीप फौगाट, विधायक अनूप धानक, विधायक नैना सिंह चौटाला, इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *