Haryana day special : GDP व प्रति व्यक्ति आय में पंजाब से आगे निकला हरियाणा

म्हारा हरियाणा विशेष स्टोरी हिसार

 

Haryana day special : GDP व प्रति व्यक्ति आय में पंजाब से आगे निकला हरियाणा

 

53 वर्ष पूर्व पंजाब से अलग होकर देश के नक्शे पर नए राज्य के रूप उभरे हरियाणा ने जीडीपी के मामले में पंजाब को ही पीछे छोड़ दिया है। बात चाहे प्रति व्यक्ति आय की हो या फिर राजकोषीय घाटे की दोनों ही मामलों में हरियाणा पंजाब से बेहतर स्थिति में है। जीएसडीपी ग्रोथ के मामले में भी हरियाणा राज्य पंजाब से एक कदम आगे चल रहा है।

राज्य के विकास की गति को मापने के लिए जीएसडीपी (राज्य का कुल घरेलु उत्पाद) को प्रमुख सूचक माना जाता है। 1966 में हरियाणा गठन के समय हरियाणा की जीडीपी मात्र 332 करोड़ थी जबकि पंजाब की 570 करोड़। बीते 53 वर्षों में दोनों ही राज्यों ने बेतहाशा आर्थिक तरक्की की उंचाईयों को छुआ है। लेकिन जीडीपी ग्रोथ के मामले में हरियाणा पंजाब से दो कदम आगे खड़ा दिख रहा है।

वित्त वर्ष 2019-20 में वर्तमान मुल्य पर पंजाब की अनुमानित जीएसडीपी करीब 5.77 लाख करोड़ है; जबकि हरियाणा की अनुमानित जीएसडीपी 7.84 लाख करोड़ रुपये है। रेटिंग्स एजेंसी क्रिसिल के अनुसार 2018 में हरियाणा की जीडीपी का ग्रोथ रेट 7.2 व पंजाब की 6.2 फीसद रहा। प्रदेश का राजकोषीय घाटा तीन फीसद से नीचे आ गया है व पंजाब का 3 फीसद से ऊपर है।

तीन फीसद से नीचे राजकोषीय घाटे का होना स्वस्थ अर्थव्यवस्था का सूचक माना जाता है। प्रति व्यक्ति आय भी हरियाणा वासियों की पड़ोसी राज्य से अधिक है। प्रदेश में 2017-18 में प्रति व्यक्ति आय अनुमानित 2.03 लाख थी जबकि इसी अवधि में पंजाब में 1.41 लाख रुपये प्रति व्यक्ति अनुमानित आय थी।

मनरेगा मजदूरी में नंबर-वन हरियाणा

महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत मजदूरी देने में हरियाणा देश में टॉप पर काबिज है। राज्य द्वारा मनरेगा मजदूरों को 284 रुपये की मजदूरी दी जा रही है। जबकि पंजाब राज्य द्वारा मनरेगा मजदूरों को 241 रुपये की मजदूरी प्रतिदिन दी जा रही है। ग्राम सशक्तिकरण में इस योजना में अहम योगदान दिया है।

 

 

अर्थव्यवस्था के विभिन्न सेक्टरों का ग्रोथ(फीसद में)

सेक्टर हरियाणा पंजाब

(स्त्रोत- पीआरएस, बजट विश्लेषण 2019-20)

कृषि – 13.2 09.9

मनुफेक्चरिंग – 09.0 08.5

सर्विस – 13.7 09.1

2019-20 हेल्थ व शिक्षा पर पंजाब से अधिक बजट ( राशि करोड़ों में)

क्षेत्र पंजाब हरियाणा

हेल्थ एवं फेमिली वेलफेयर 4156 5016

ग्रामीण विकास 1782 5365

एजुकेशन 12888 15346

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *