गुरुग्राम में पिछले 8 सालों के बाद रिकॉर्ड बारिश || प्रशासन ने सही व्यवस्था बनाने में खुद की थपथपाई पीठ

मौसम म्हारा हरियाणा विशेष स्टोरी

29 अगस्त ,गुरुग्राम

भले ही सोमवार रात की बारिश से मंगलवार सुबह गुरुग्राम में बनी जाम और जलभराव की स्थिति की देश भर में चर्चा हो, फिर भी हरियाणा सरकार और जिला प्रशासन को लगता है कि इसमें प्रशासन ने शानदार काम किया है। गुरुग्राम में पानी से भरी सड़कों की तस्वीरें दिन भर सोशल मीडिया रही और टीवी पर भी पूरा दिन राज्य सरकार की किरकिरी होती रही। इसके विपरित गुरुग्राम जिला प्रशासन ने एक प्रेस नोट जारी कर अपनी पीठ थपथपाई है।

पढ़िये क्या कहना है गुरुग्राम प्रशासन का मंगलवार की स्थिति पर गुरुग्राम में पिछले 8 वर्षों में एक दिन में सर्वाधिक 130 मिलीमीटर बारिश होने के बावजूद इस बार ट्रैफिक चलता रहा और वाहनों के पहिए बिल्कुल रुके नही रहे। यह इसलिए संभव हो पाया क्योंकि बारिश चूँकि सोमवार रात से शुरू हो गई थी और जिला अधिकारियों ने ट्रैफिक पुलिस तथा शहरी स्थानीय निकाय के इंजीनियरिंग विंग के अधिकारियों व कर्मचारियों की पहले ही ड्यूटियां लगा दी थी, जिसके कारण गुरुग्राम में 28 जुलाई 2016 वाली महाजाम की स्थिति की पुनरावृति होने से बच गयी ।

आज की बारिश और लगभग 2 वर्ष पहले हुई बारिश में अंतर यह है कि इस बार सोमवार रात्रि से मंगलवार प्रातः 10:00 बजे तक लगभग 130 मिलीमीटर वर्षा गुरुग्राम में हुई, जो पिछले 8 वर्षों में एक दिन की बरसात का रिकॉर्ड है। 28 जुलाई 2016 को मात्र 52 मिलीमीटर बरसात हुई थी, इस लिहाज से इस बार उससे लगभग ढाई से 3 गुणा ज्यादा बरसात हुई है।‘ गुरुग्राम में पिछले 8 वर्षों में एक दिन में सर्वाधिक 130 मिलीमीटर बारिश होने के बावजूद इस बार ट्रैफिक चलता रहा और वाहनों के पहिए बिल्कुल रुके नही रहे। यह इसलिए संभव हो पाया क्योंकि बारिश चूँकि सोमवार रात से शुरू हो गई थी और जिला अधिकारियों ने ट्रैफिक पुलिस तथा शहरी स्थानीय निकाय के इंजीनियरिंग विंग के अधिकारियों व कर्मचारियों की पहले ही ड्यूटियां लगा दी थी, जिसके कारण गुरुग्राम में 28 जुलाई 2016 वाली महाजाम की स्थिति की पुनरावृति होने से बच गयी।

आज की बारिश और लगभग 2 वर्ष पहले हुई बारिश में अंतर यह है कि इस बार सोमवार रात्रि से मंगलवार प्रातः 10:00 बजे तक लगभग 130 मिलीमीटर वर्षा गुरुग्राम में हुई, जो पिछले 8 वर्षों में एक दिन की बरसात का रिकॉर्ड है। 28 जुलाई 2016 को मात्र 52 मिलीमीटर बरसात हुई थी, इस लिहाज से इस बार उससे लगभग ढाई से 3 गुणा ज्यादा बरसात हुई है।


by

सिटी तहलका डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *