NRC-CAA के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शन, 3 घंटे तक सेवा रही बंद; पुलिस ने किए पुख्ता इंतजाम

crime म्हारा हरियाणा राजनीति राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय

 

NRC-CAA के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शन, 3 घंटे तक सेवा रही बंद; पुलिस ने किए पुख्ता इंतजाम

 

Citizenship Amendment Act 2019 : नागरिकता संशोधन कानून (सीएएए) व राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में बृहस्पतिवार को दिल्ली के विभिन्न इलाकों में लोगों ने प्रदर्शन किया। इन प्रदर्शनों का केंद्र लाल किला रहा, जहां सैकड़ों की संख्या में लोगों ने पहुंचकर केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस के विरोध में जमकर नारेबाजी की। बिना अनुमति प्रदर्शन करने पर पुलिस ने बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया और बसों में भरकर बवाना के राजीव गांधी स्टेडियम में बनाई गई अस्थायी जेल में ले गई। इस दौरान, स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव व कांग्रेस के पूर्व सांसद संदीप दीक्षित को भी हिरासत में लिया गया। प्रदर्शन के कारण ऐहतियातन धारा 144 लगाई गई, 21 मेट्रो स्टेशन बंद रहे और दिल्ली के विभिन्न इलाकों में मोबाइल नेटवर्क सेवा भी बंद की गई। मेट्रो स्टेशन बंद होने से अपने कार्यालयों व अन्य कामकाज पर जाने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। दिल्ली की सीमाओं पर पुलिस की जांच के कारण दिल्ली-गुरुग्राम और यूपी गेट के पास दिल्ली की सीमा पर भारी जाम लग गया। वहीं, आइटीओ के आसपास भी वाहनों की रफ्तार धीमी रही।

शुक्रवार को जामिया इलाके में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों के प्रदर्शन से शुरू हुआ सीएए व एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन का सिलसिला करीब एक हफ्ते बाद बृहस्पतिवार को लाल किले तक पहुंच गया। लाल किले पर विभिन्न संगठनों की ओर से आयोजित प्रदर्शन में बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता, स्थानीय लोग व छात्र-छात्राएं शामिल हुए। अनुमति न होने के कारण पुलिस ने धारा 144 का पालन कराने के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों को हिरासत में लेना शुरू किया। विरोध किए जाने पर पुलिस ने जबरन प्रदर्शनकारियों को बसों में ठूंस दिया और वहां से ले गई। प्रदर्शन का ये सिलसिला मंडी हाउस पर भी जारी रहा। यहां भी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया और दोपहर करीब एक बजे तक मंडी हाउस से प्रदर्शनकारियों को हटा दिया गया। हालांकि सुबह से ही प्रदर्शनकारियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सुरक्षा कारणों से लालकिले से लेकर मंडी हाउस और मंडी हाउस के आसपास के मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया था। दोपहर एक बजे के करीब प्रदर्शनकारी दिल्ली गेट स्थित शहीदी पार्क के पास जुटने लगे, जिन्हें पुलिस ने वहां से भी हटा दिया। पूरे इलाके में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और दिल्ली पुलिस के साथ ही रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) के जवानों को तैनात किया गया है।

उधर, दक्षिणी दिल्ली के जामिया और शाहीन बाग इलाके में बृहस्पतिवार को शांतिपूर्ण प्रदर्शन जारी रहा। इन इलाकों में भी ऐहतियातन मेट्रो स्टेशन बंद करने के साथ ही मोबाइल नेटवर्क बंद कर दिया गया। इन क्षेत्रों में हिंसा के बाद से ही पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात है।

 

 

दूसरी ओर, राजघाट पर बड़ी संख्या में हिंदू शरणार्थियों ने सीएए के समर्थन में प्रदर्शन किया। मजनूं का टीला, आदर्श नगर, रोहिणी सेक्टर-11 के कैंपों के ये शरणार्थी बच्चों के साथ राजघाट पहुंचे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के समर्थन में नारेबाजी की।

ये मेट्रो स्टेशन बंद किए गए

विश्वविद्यालय, चांदनी चौक, लाल किला, जामा मस्जिद, दिल्ली गेट, आइटीओ, मंडी हाउस, बाराखंभा रोड, जनपथ, प्रगति मैदान, पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय, उद्योग भवन, लोक कल्याण मार्ग, खान मार्केट, जसोला, अपोलो, जामिया, शाहीन बाग, वसंत विहार, मुनिरका।

यहां बंद है मोबाइल सेवा

लाल किला, आइटीओ, मंडी हाउस, जामिया, शाहीन बाग, जाफराबाद, मुस्तफाबाद, बवाना

सरकारी अधिकारियों की ओर से मिले निर्देशों के बाद दिल्ली के कुछ इलाकों में मोबाइल, इंटरनेट व एसएमएस सेवा बंद कर दी गई है। नए निर्देश मिलने पर सेवाएं फिर से शुरू कर दी जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *